Skip to main content

Posts

Showing posts from March 14, 2016

देखिये

मेरे पहलू में भी आ कर देखिए
दिल से दिल मिलाकर देखिए

मेरे हमदम की गाई ग़ज़ल
साथ मेरे गुनगुनाकर देखिए

नफरतों कि बस्तीयों को भूल कर
प्यार कि दुनियाँ बसा कर देखिए

मुश्किलों में तो थपेड़े धुप के
साथ मेरे भी खा कर देखिए

आप के कन्धे पे रखा है सर
प्यार से थपथपा कर देखिए

लाए है तोहफ़े में हम जां और ज़िगर
आप नजरें उठा कर देखिए

ग़र खता कोई नहीं कि आपने
आँखों से आँखों मिला कर देखिए

चाँद तारों से भला क्या पूछना
"अरु" खुद ही आकर देखिए

आराधना राय "अरु"

दोस्तो देख लो

करम कैसा ये उल्फतो का अजब है दोस्तो देख लो
पड़े हैं  उनकी  रहमतो पर गज़ब  दोस्तो देख लो

खतावार  हुआ खुद  गम का  शिकार रास्ता देख लो
रहम यहाँ किस के दिल के करीब  दोस्तों देख लो

कड़ी दरवाजे की बंद कर के दुनियाँ  से वास्ता देख लो
आँख बंद कर के सहरा -ओं के सराब  दोस्तों देख लो

बड़े अदब का क़ायदा रिवायत उनकी कायदा देख लो
हर इक पल  तराशा उन का हिसाब  दोस्तों देख लो

आराधना राय "अरु"